". RRB NTPC 7th Phase Exam 2021 Date Declared, Know Exam Schedule Skip to main content

Flipkart is offering greatest markdown on Apple iPhone 12 yet! Check how to snatch offer

  image source - google | image by | - digit.in You can also use card discounts and cashback offers to make your Apple iPhone 12 purchase on Flipkart more affordable and rewarding.    New Delhi: Amazon and Flipkart are raining tons of offers in categories such as smartphones, consumer electronics, clothing and home decor, among others, with their ongoing sales. However, one of the best offers that Flipkart is currently offering is on Apple iPhone 12.  The Walmart-owned ecommerce company is offering a massive discount on Apple’s flagship smartphone’s 64GB variant which was launched at Rs 79,900 in India. With a discount of Rs 11,901, iPhone 12 is currently selling at Rs 67,999 on Flipkart   Notably, this is the biggest discount ever offered by any retailer on Apple iPhone 12. Previously, online retailers were selling the device with a discount worth up to Rs 9000. Customers can also avail an impressive discount on the purchase of the iPhone 12’s 128GB variant. During Flipkart’

RRB NTPC 7th Phase Exam 2021 Date Declared, Know Exam Schedule

 

Railway Recruitment Board (RRB) has released the NTPC exam schedule for the last phase on its official website. As per the schedule released by the board, RRB NTPC Phase 7 examinations will be held on 23, 24, 26 and 31 July 2021.

image source - google | image by -| - searchenginejournal


Around 2.78 lakh candidates will appear in the Phase 7 exam. RRB has issued a notice saying that, “NTPC 7th Phase CBT-1 (Computer Based Test-1) will be conducted on 23, 24, 26 and 31 July 2021. It has also been said in the released notification that the link will be activated on the official website 10 days before the exam for exam timings, center and traveling authority pass for ST category candidates etc.

Exams from four day first Ongoing Will happen Hall Ticket

The connect to download the concede card or corridor ticket will be enacted on the authority site four days before the date of RRB NTPC seventh Phase Exam. The data about the test place and timing of the test will be referenced on the concede card. Up-and-comers need to arrive at the assessment place 1 hour before the booked time. Late coming up-and-comers won't be given confirmation. It is vital that the concede card will be given to the up-and-comers on their enrolled versatile number and email ID.

 

It is mandatory for the candidates to follow the guidelines related to Kovid

The candidates are advised to strictly follow the guidelines regarding COVID issued along with the call letter. Use of face mask is mandatory for candidates and they will be allowed entry only if they are wearing face mask at all times (except at the time of taking photograph).

The exam is being organized in 15 languages

RRB NTPC 7th Phase exam is being conducted in 15 languages. These include regional languages ​​like Hindi, Kannada, English and Marathi. According to the reports, RRB NTPC seventh phase exam is to be held for 35280 posts.

 

 

The connect to download the concede card or corridor ticket will be enacted on the authority site four days before the date of RRB NTPC seventh Phase Exam. The data about the test place and timing of the test will be referenced on the concede card. Up-and-comers need to arrive at the assessment place 1 hour before the booked time. Late coming up-and-comers won't be given confirmation. It is vital that the concede card will be given to the up-and-comers on their enrolled versatile number and email ID.

Comments

Popular posts from this blog

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाए

इम्‍युनिटि जो कि शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ता है अर्थात शरीर में रोगो से लड़ने की क्षमता को बढ़ाता है जिसको हम रोग प्रतिरोधक क्षमता या प्रतिरक्षा कहा जाता है ये किसी भी प्रकार के सूक्ष्‍मजीव जैसे – रोगो को पैदा करने वाले वायरस , बैक्‍टीरिया   आदि , से शरीर को लड़ने की क्षमता देते है ,  ये ही हमारे शरीर को रोगो से लड़ने की शक्ति देती है । शोधकर्ताओं का मनना है की शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में कुछ भोज्‍य पदार्थ बहुत अच्‍छे होते है ताजे फल और सब्जियों में काफी मात्रा में एंटीऑक्‍सीडेंट होते है जो शरीर को अनेक बीमारियों से बचाये रहते है। शोधकर्ताओं का एैसा मानना है की आहार , व्‍यायाम , उम्र मानसिक तनाव का भी शरीर की प्रतिरोधक क्षमता पर प्रभाव पड़ता है सामान्‍य तौर पर रोग प्रतिरोधक क्षमता को अच्‍छा तथा एक स्‍वस्‍थ्‍य जीवन शैली को बनाये रखने के लिये एक अच्‍छा तरीका है आज इस लेख के माध्‍यम से हम विभिन्‍न भोज्‍य पदार्थो से इम्‍युनिटि को अच्‍छा रखने जानकारी दे रहे है।   स्‍वस्‍थ्‍य जीवन शैली से इम्‍युनिटि को बढ़ाऐं –   इम्‍युनिटि को अपने शरीर में अच्‍छा रखने के ल

मां सिद्धिदात्री की कथा

  मां सिद्धिदात्री – नवरात्रि के पावन अवसर पर मां आदि शक्ति की सिद्धि दात्री रूप की उपासना की जाती है   मां की उपासना से सभी सिद्धियां तथा तथा सभी सुखो की प्राप्ति होती है। नवरात्रि के नवे मां आदि शक्ति के सिद्धिदात्रि स्‍वरूप की उपासना की जाती है ये सभी प्रकार की सिद्धि देने वाली होती है नवरात्रि के नवे दिन इनकी पूर्ण शास्‍त्रीय विधान से पूजा करने पर पूर्ण निष्‍ठा के साथ पूजा करने पर साधक को सभी प्रकार की सिद्धि प्राप्‍त होती है साधक के लिए ब्रम्‍हाण्‍ड में कुछ भी असाध्‍य नहीं रह जाता है ब्रम्‍हाण्‍ड पूर्ण विजय प्राप्त करने की सामार्थ्‍य उसमें आ जाती है।   मार्कण्‍डेय पूराण के अनुसार अणिमा   महिमा   गरिमा   लघिमा   प्राप्ति   प्राकाम्‍य ईशित्‍व   और वशित्‍व   ये आठ प्रकार की सिद्धियां होती हैं।   ब्रम्‍हवैवर्तपुराण के अनुसार श्री कृष्‍ण जन्‍म खण्‍ड में इनकी संख्‍या अठारह बताई गई है 1 . अणिमा   2 . लघिमा   3 . प्राप्ति   4 . प्राकाम्‍य   5 . महिमा   6 .   ईशित्‍व , वाशित्‍व   7 .   सर्वकामावसायिता   8 .   सर्वज्ञत्‍व   9 .   दूरश्रवण   10 .   परकायप्रवेशन 11 .   वाक्सि

मां शैलपुत्री की कथा 2020

      मां शैलपुत्री की कथा  नवरात्रि के पावन पर्व में प्रथम दिन  मां शैलपुत्री की कथा www.jankarimy.com जगदम्‍बेश्‍वरी आदि शक्ति के प्रथम स्‍वरूप की कथा जो शैलपुत्री के रूप में जाना जाता है मॉं के ध्‍यान और उपासना सभी कस्‍टो का अंत और पुन्‍य का उदय होता है शास्‍त्रो के अनुसार नवरात्रि में मॉं के अलग अलग स्‍वरूपो की पूजा की जाति है प्रथम दिन मॉं शैल पुत्री की पूजा की जाति है मॉं शैलपुत्री की कथा इस प्रकार एक बाद सति जी के पिता दक्ष ने यज्ञ किया उसमें उन्‍होने सभी देवी ओर देवताओं को आमंत्रण दिया लेकिन शिव जी को कोई निमंत्रण नहीं दिया गया क्‍योंकि दक्ष शिव जी किसी कारण वश ईर्शा रखते थे।   सति जी और शिव जी कैलाश में बैठे थे तब उन्‍होने देवताओं के विमानो को जाते हुऐ देखा उन्‍होने शिव जी से पूछा की ये सब कहा जा रहे है शिव जी ने बताया की आपके पिता ने यज्ञ का आयोजन किया हुआ है ये सब उसी यज्ञ में अपना भाग लेने जा रहे है सति जी ने कहा की हमें भी चलना चाहिये तब शिव जी ने बोला की आपके पिता मुझसे बैर मानते है और उन्‍होने हमें आमंत्रित भी नहीं किया हमें वहॉं नहीं जाना चाहिए ,    पर सति ज