". MP panchayat sarpanch chunao date jankari in 2020 Skip to main content

मां सिद्धिदात्री की कथा

  मां सिद्धिदात्री – नवरात्रि के पावन अवसर पर मां आदि शक्ति की सिद्धि दात्री रूप की उपासना की जाती है   मां की उपासना से सभी सिद्धियां तथा तथा सभी सुखो की प्राप्ति होती है। नवरात्रि के नवे मां आदि शक्ति के सिद्धिदात्रि स्‍वरूप की उपासना की जाती है ये सभी प्रकार की सिद्धि देने वाली होती है नवरात्रि के नवे दिन इनकी पूर्ण शास्‍त्रीय विधान से पूजा करने पर पूर्ण निष्‍ठा के साथ पूजा करने पर साधक को सभी प्रकार की सिद्धि प्राप्‍त होती है साधक के लिए ब्रम्‍हाण्‍ड में कुछ भी असाध्‍य नहीं रह जाता है ब्रम्‍हाण्‍ड पूर्ण विजय प्राप्त करने की सामार्थ्‍य उसमें आ जाती है।   मार्कण्‍डेय पूराण के अनुसार अणिमा   महिमा   गरिमा   लघिमा   प्राप्ति   प्राकाम्‍य ईशित्‍व   और वशित्‍व   ये आठ प्रकार की सिद्धियां होती हैं।   ब्रम्‍हवैवर्तपुराण के अनुसार श्री कृष्‍ण जन्‍म खण्‍ड में इनकी संख्‍या अठारह बताई गई है 1 . अणिमा   2 . लघिमा   3 . प्राप्ति   4 . प्राकाम्‍य   5 . महिमा   6 .   ईशित्‍व , वाशित्‍व   7 .   सर्वकामावसायिता   8 .   सर्वज्ञत्‍व   9 .   दूरश्रवण   10 .   परकायप्रवेशन 11 .   वाक्सि

MP panchayat sarpanch chunao date jankari in 2020





मध्‍यप्रदेश पंचायत चुनाव की जानकारी 

मध्‍यप्रदेश के चुनाव की समय अवधी बढ़ती  हुई देखते हुए प्रसासन ने अभी जो जानकारी आई है आपके सामने दी जा रही है चुनाव करवाने के लिए लोग और प्रशासन दोनो प्रतिबद्ध है

पंचायत चुनाव से पहले पंचायत संगठनों ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है । त्रिस्‍तरीय  पंचायतरात संगठन का आरोप है कि सरकार ने वादाखिलाफी की है । भाजपा सरकार ने अधिनियम में संशोधन कर जनप्रतिनिधियों के अधिकारों में जो कटौती की थी ,उसे अभी तक वापस नहीं लिया गया है वहीं जिला और जनपद पंचायत के प्रतिनिधियों की विवेकाधीन राशि भी रोक ली है इससे ग्रामीण क्षेत्रों में विकास के काम ठम पड़ गए हैं। इसको लेकर पंचायत प्रतिनिधियों में नाराजगी है और वे आंदोलन की रणनीति बनाने के लिए मंगलवार को भोपाल के मानस भजन में बैठक करेंगे । प्रदेश के ग्राम पंचायत के जनपद और जिला पंचायत के चुनाव को लेकर प्रक्रिया शुरू हो गई है हर स्‍तर पर आरक्षण का काम चल रहा है जो 10 जनवरी तक पूरा होना है । इसके बाद जिला पंचायत के अध्‍यक्ष पद का आरक्षण राज्‍य स्‍तर से होगा । उधर ,सरकार ने जिला और जनपद पंचायत के प्रतिनियों को मिलने वाली सालाना विवेकाधीन राशि जारी करने पर रोक लगा दि है।                 

जबकीपिछली बार पंचायत प्रतिनिधि भोपाल में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्‍व्‍र पटेल के निवास पर जुटे थे , तब यह सहमति बनी थी कि राशि जारी कर दी जाएगी लेकिन इस पर अमल नहीं हुआ। उधर पूर्व मुख्‍यमंत्री दिग्‍विजय सिंह की मौजूदगी में तत्‍कालीन अपर मुख्‍य सचिव गौरी सिंह के साथ हुई बैठक में अधिकारों के विकेंद्रीकरण को लेकर भी सहमति बन गई थी । इसके भी आदेश विभाग ने नहीं निकाले है । इन मुद़़ो को लेकर चुने हुए पंचायत प्रतिनिधियों में  

नाराजगी है। इसको लेकर मंगलवार को सभी पदाधिकारी भोपाल के मानस भवन में बैठक आगामी  रणनीति बनाएंगे भी निकाली जा सकती है।


हर जिले से आएंगे प्रतिनिधि :  त्रिस्‍तरीय पंचायतराज संगठन के संयोजक रतलाम जिला पंचायत के उपाध्‍यक्ष डी पी धाकड़ का कहना है कि हर जिले से चुने हुए प्रतिनिधि भोपाल पहुच रहे हैं। बैठक में पंचायतों को अधिकार सम्‍पन्‍न की लड़ाई की तरह जारी रहेगी । 

      



                 मध्‍यप्रदेश राज्‍य निर्वाचन आयोग
                       निर्वाचन भवन
               58. अरेरा हिल्‍स भोपाल - 4620011
                     // संशोधित कार्यक्रम //
क्रमांक- एफ- 35/PN - 01/2020 /    /253 : मध्‍यप्रदेश पंचायत निर्वाचन नियम  1995  के नियम - 9   द्वरा  प्रदत्‍त शक्तियों का प्रयोग करते हुए तथा नियम   की अपेक्षानुसार मध्‍यप्रदेश राज्‍य निर्वाचन आयोग एतद़द्वरा पंचायत के निर्वाचन हेतु   जनवरी   की संदर्भ तारीख के आधार पर पंचायतों की फोटोयुक्‍त मतदाता सूची के वार्षिक पुनरीक्षण हेतु निम्‍नाकिंत कार्यक्रम निर्धारित करता है : - 




        तृतीय चरण ( अंतिम मतदाता सूची तैयार करना )

क्रमांक
      कार्यवाही
   उत्‍तरदायित्‍व
   समयसीमा         
 (अंतिम तारीख)
1
दावा आपत्ति केन्‍द्र पर दावे आपत्ति प्राप्‍त करने की अवधि ।
प्रधिकृत कर्मचारी

 1 जुलाई 2020 से 25 जुलाई 2020 के अपराान्‍ह 3:00 तक (रविवार का छाड़कर  )
2
दावा आपत्ति आवेदन पत्रों के निराकरण की अंतिम तिथि ।
रजिस्‍ट्रीकरण अधिकारी
5 अगस्‍त 2020
3
निराकृत दावा आपत्ति आवेदन पत्रों की ERMS में प्रविष्‍ट की अंतिम तिथि
रजिस्‍ट्रीकरण अधिकारी
14 अगस्‍त 2020
4
दावे आपत्ति की चैकलिस्‍ट तैयार करना
रजिस्‍ट्रीकरण अधिकारी
17 अगस्‍त 2020
5
चैकलिष्‍ट की जॉंच कर त्रुटि सुधार उपरातं वेण्‍डर को वापस करना ।
रजिस्‍ट्रीकरण अधिकारी
20 अगस्‍त 2020
6
फोटोयुक्‍त और फाटोरहित  अंतिम मतदाता सुचि जेनरेट करना।
रजिस्‍ट्रीकरण अधिकारी एंव वेण्‍डर
22 अगस्‍त 2020
7
फोटोरहित अंतिम मतदाता सूचि को वेबसाइट नी अपलोड करता।
  रजिस्‍ट्रीकरण अधिकारी
17 अगस्‍त 2020

8
फोटोयुक्‍त अंतिम मतदाता सूची को मुद्रित कर रजिस्‍ट्रकरण अधिकारी को उपलब्‍ध कराना ।
  वेण्‍डर
29 अगस्‍त 2020
9
फोटोयुक्‍त अंतिम मतदाना सूचि का ग्राम पंचायत तथा अन्‍य विहित स्‍थानों पर सार्वजनिक प्रकाशन।
रजिस्‍ट्रीकरण अधिकारी
2 सितम्‍बर 2020
10
अंतिम मतदाता सूचि की फोटोरहित सी डी विक्रय के लिए उपलब्‍ध कराना।  
रजिस्‍ट्रीकरण अधिकारी
4 सितम्‍बर 2020
11
फोटोयुक्‍त अंतिम मतदाता सूचि के सार्वजनिक प्रकाशन का प्रमाण पत्र स्‍केन कर अपलोड करना ।
रजिस्‍ट्रीकरण अधिकारी
5 सितम्‍बर 2020

                           















































































Comments

Popular posts from this blog

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाए

इम्‍युनिटि जो कि शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ता है अर्थात शरीर में रोगो से लड़ने की क्षमता को बढ़ाता है जिसको हम रोग प्रतिरोधक क्षमता या प्रतिरक्षा कहा जाता है ये किसी भी प्रकार के सूक्ष्‍मजीव जैसे – रोगो को पैदा करने वाले वायरस , बैक्‍टीरिया   आदि , से शरीर को लड़ने की क्षमता देते है ,  ये ही हमारे शरीर को रोगो से लड़ने की शक्ति देती है । शोधकर्ताओं का मनना है की शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में कुछ भोज्‍य पदार्थ बहुत अच्‍छे होते है ताजे फल और सब्जियों में काफी मात्रा में एंटीऑक्‍सीडेंट होते है जो शरीर को अनेक बीमारियों से बचाये रहते है। शोधकर्ताओं का एैसा मानना है की आहार , व्‍यायाम , उम्र मानसिक तनाव का भी शरीर की प्रतिरोधक क्षमता पर प्रभाव पड़ता है सामान्‍य तौर पर रोग प्रतिरोधक क्षमता को अच्‍छा तथा एक स्‍वस्‍थ्‍य जीवन शैली को बनाये रखने के लिये एक अच्‍छा तरीका है आज इस लेख के माध्‍यम से हम विभिन्‍न भोज्‍य पदार्थो से इम्‍युनिटि को अच्‍छा रखने जानकारी दे रहे है।   स्‍वस्‍थ्‍य जीवन शैली से इम्‍युनिटि को बढ़ाऐं –   इम्‍युनिटि को अपने शरीर में अच्‍छा रखने के ल

मां सिद्धिदात्री की कथा

  मां सिद्धिदात्री – नवरात्रि के पावन अवसर पर मां आदि शक्ति की सिद्धि दात्री रूप की उपासना की जाती है   मां की उपासना से सभी सिद्धियां तथा तथा सभी सुखो की प्राप्ति होती है। नवरात्रि के नवे मां आदि शक्ति के सिद्धिदात्रि स्‍वरूप की उपासना की जाती है ये सभी प्रकार की सिद्धि देने वाली होती है नवरात्रि के नवे दिन इनकी पूर्ण शास्‍त्रीय विधान से पूजा करने पर पूर्ण निष्‍ठा के साथ पूजा करने पर साधक को सभी प्रकार की सिद्धि प्राप्‍त होती है साधक के लिए ब्रम्‍हाण्‍ड में कुछ भी असाध्‍य नहीं रह जाता है ब्रम्‍हाण्‍ड पूर्ण विजय प्राप्त करने की सामार्थ्‍य उसमें आ जाती है।   मार्कण्‍डेय पूराण के अनुसार अणिमा   महिमा   गरिमा   लघिमा   प्राप्ति   प्राकाम्‍य ईशित्‍व   और वशित्‍व   ये आठ प्रकार की सिद्धियां होती हैं।   ब्रम्‍हवैवर्तपुराण के अनुसार श्री कृष्‍ण जन्‍म खण्‍ड में इनकी संख्‍या अठारह बताई गई है 1 . अणिमा   2 . लघिमा   3 . प्राप्ति   4 . प्राकाम्‍य   5 . महिमा   6 .   ईशित्‍व , वाशित्‍व   7 .   सर्वकामावसायिता   8 .   सर्वज्ञत्‍व   9 .   दूरश्रवण   10 .   परकायप्रवेशन 11 .   वाक्सि

मां शैलपुत्री की कथा 2020

      मां शैलपुत्री की कथा  नवरात्रि के पावन पर्व में प्रथम दिन  मां शैलपुत्री की कथा www.jankarimy.com जगदम्‍बेश्‍वरी आदि शक्ति के प्रथम स्‍वरूप की कथा जो शैलपुत्री के रूप में जाना जाता है मॉं के ध्‍यान और उपासना सभी कस्‍टो का अंत और पुन्‍य का उदय होता है शास्‍त्रो के अनुसार नवरात्रि में मॉं के अलग अलग स्‍वरूपो की पूजा की जाति है प्रथम दिन मॉं शैल पुत्री की पूजा की जाति है मॉं शैलपुत्री की कथा इस प्रकार एक बाद सति जी के पिता दक्ष ने यज्ञ किया उसमें उन्‍होने सभी देवी ओर देवताओं को आमंत्रण दिया लेकिन शिव जी को कोई निमंत्रण नहीं दिया गया क्‍योंकि दक्ष शिव जी किसी कारण वश ईर्शा रखते थे।   सति जी और शिव जी कैलाश में बैठे थे तब उन्‍होने देवताओं के विमानो को जाते हुऐ देखा उन्‍होने शिव जी से पूछा की ये सब कहा जा रहे है शिव जी ने बताया की आपके पिता ने यज्ञ का आयोजन किया हुआ है ये सब उसी यज्ञ में अपना भाग लेने जा रहे है सति जी ने कहा की हमें भी चलना चाहिये तब शिव जी ने बोला की आपके पिता मुझसे बैर मानते है और उन्‍होने हमें आमंत्रित भी नहीं किया हमें वहॉं नहीं जाना चाहिए ,    पर सति ज